सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर मनोज बाजपेयी का ये बयान, कहा सुशांत को एक ऐसे…

0 297

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर मनोज बाजपेयी का ये बयान, कहा सुशांत को एक ऐसे…

पिछले सप्ताह निधन हुए सुशांत सिंह राजपूत की सोनचिड़िआ (Sonchiriya) के सह-कलाकार मनोज बाजपेयी ने कहा है कि उन्होंने 34 साल की उम्र तक कुछ भी हासिल नहीं किया था, मनोज ने यह भी कहा कि वह हमेशा सुशांत को एक ऐसे व्यक्ति के रूप में याद करेंगे, जिसने अपने छोटे शहर और छोटे गांव से निकल कर इतने बड़े फिल्म इंडस्ट्री में नाम कमाया था वो भी 34 साल की उम्र में । 34 वर्ष की उम्र तक मैंने कुछ भी हासिल नहीं किया था जो सुशांत ने किया था । वो बहत ही टैलेंटेड एक्टर के साथ ही आछे इंसान थे ।

इसके बाद, भोसले (Bhosle next )में अभिनय करने वाले अभिनेता ने एक साक्षातकार में पिंकविला को बताया, “हम सभी के पास अपनी ऊंचाइयां और प्यार और भावनाएं हैं। सुशांत अलग नहीं थे। मुझे नहीं लगता कि मैं उतना प्रतिभाशाली हूं। मुझे नहीं लगता कि मैं उतना ही बुद्धिमान और उज्ज्वल हूं जितना वह हुआ करता था और मुझे नहीं लगता कि मैंने 34 साल की उम्र तक कुछ भी हासिल किया, जो उन्होंने हासिल किया, उनकी उपलब्धियों की तुलना में। मुझे लगता है कि मेरी उपलब्धियां बहुत छोटी हैं। इसी से मुझे उसकी याद आती है। मैं उन्हें केवल एक अच्छे इंसान के रूप में याद नहीं रखूंगा बल्कि इतनी छोटे सेहर से निकल कर इतने नाम सोहरत कमाया था बो भी इतनी कम उम्र में ।

मनोज बाजपेयी ने आगे कहा, “मैं उन्हें पटना से आए किसी व्यक्ति के रूप में याद करता हूं की वो पटना की छोटे से सेहर से बतौर बेगग्राउण्ड डेंसर की रूप में आया था और सभी नृत्य क्षमता के साथ, कूलनेस और चार्मिंग मुस्कान के साथ आया था और जो अपने साथ ले गए। वह अंदर एक छोटे शहर का आदमी था। उसके अंदर एक छोटा शहर पटना का लड़का था। मैं भी काफी रिलेट करता था इसी बात से ।

फिल्म निर्माता शेखर कपूर के साथ पहले की बातचीत में, मनोज ने सोनचिरिया (Sonchiriya) पर सुशांत के साथ काम करने की कहानियों को याद किया था। “मेरा दिमाग वो पहले दिन मुलाकात नहीं भूल प् रहा हूँ,जब सुशांत मेरे पास आया था और अचानक मेरे पैर छूया था । सभी लोगों ने उसके के बारे में बोल रहे थे,लेकिन उसी दिन उनके वो एक इशारे ने सब कुछ बयां कर दिआ था बाके ही वो किसी प्रकार की कलाकार था । ऐसा नहीं है कि उसने मेरे पैर छुए यह उसकी पृष्ठभूमि के बारे में बहुत सारी बातें कहती है, वह कहाँ से आया है, “उन्होंने सारे कुछ उनके साथ बात करते थे और सेयर कर ते थे और वो हमेसा मुस्कराते थे और वो इतने टेलेंटेड एक्टर थे इसीलिए कोई इनके हसी के पीछे छुपा गम को कोई पहचान नहीं पाये ।

ये भी पढ़े :-सुशांत सिंह राजपूत की Final Post-Mortem Report मिली मुंबई पुलिस को,सामने आई मौत की असली बजह

Leave A Reply

Your email address will not be published.