भूलकर भी न करें ये चीजें, कहर मचाने आ रहा हे साइक्लोन निसर्ग (Cyclone Nisarga) सबसे ज़्यदा असर..

0 285

भूलकर भी न करें ये चीजें,कहर मचाने आ रहा हे साइक्लोन निसर्ग (Cyclone Nisarga)

निसर्ग चक्रवात(Cyclone Nisarga) ने आज सुबह तक भयानक रूप ले लिया है आज ये दिन के समय से लेकर शाम होते होते महाराष्ट्र के उत्तरी सीमा तट पर जमीन से टकराने की आशंका है । उस समय तेज़ हवाएं चलेगी जिनकी गति लगभग ११० से १३० किमी प्रति घंटा रहेगी । इस चक्रवात का असर सबसे अत्यधिक मुंबई ठाणे और रायगढ़ में होगा । मौसम विभाग की जानकारी के अनुसार पणजी शहर के हिस्सों में हवाएं तेज़ चलेगी और साथ में बारिश भी होगी बाकि गोवा के हिस्सों में तेज़ हवाओ के साथ हल्की बारिश हो सकती है । उसी के साथ मुंबई और ठाणे जैसी इलाकों में बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी गयी है दिन में ये चक्रवात अलीबाग के दक्षिणी हिस्से में जमीन से टकराने के बाद तेज़ हवाएं चलेगी जिनकी गति ११०-१२० किमी प्रति घंटा तक रहेगी ।

मौसम विभाग की जानकारी के हिसाब से ये निसर्ग चक्रवात पिछले कुछ घंटो में १३ से १४ किमी प्रति घंटे के हिसाब से उत्तरी महाराष्ट्र के तट की और बढ़ रहा है यह अलीबाग से १५५-१६० दक्षिण पश्चिम और मुंबई से २०० के करीब दक्षिण दक्षिण और पश्चिम में केंद्रित है । दमन और द्वीप में एन डी आर ऍफ़ की टीमों ने रहत और बचाव के लिए अभी से काम शुरू कर दिया है । महाराष्ट्र सरकार ने लोगों से चक्रवात के दौरान कुछ चीजों को करने और कुछ को न करने के लिए कहा है।

दमन में चक्रवात निसर्ग को लेके पहले से ही प्रशासन अलर्ट हो गया है लोगो को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने का काम पहले ही शुरू कर दिया है लोगो को समुद्री इलाको के आसपास से हटाने का काम शुरू कर दिया गया है और कई टीमों ने रहत और बचाव का काम शुरू कर दिया है जिससे लोगो को इस आपदा से बचाया जा सके । मौसम की जानकरी के अनुसार आने वाले कुछ और घण्टो में मध्य भारत कर्नाटक और मध्य प्रदेश में भी बारिश होने के अनुमान है इसके साथ ही मराठवाड़ा के कुछ जगहों पर और मुंबई सहित महाराष्ट्र के बाकी के हिस्सों में भी बारिश और गरज के साथ छीटें पड़ने की सम्भावना है और कुछ हिस्सों में भारी बारिश भी होगी। मुंबई में रेड अलर्ट पहले से ही किया हुआ है मुंबई में तो मंगलवार शाम से ही बारिश होना शुरू हो गया है और रत तक बारिश ने अपनी रफ़्तार और बड़ा दी है जिसका पहले से ही अंदाज़ा था ।

महाराष्ट्र और गुजरात में तो पहले से ही आपदा से निपटने के लिए कई राहत की टीमों को अलर्ट किया जा चूका है सरकार द्वारा एन डी आर ऍफ़ की टीमों पहले से ही वह तैनात किया जा चूका है और इस चक्रवात से प्रभावित होने वाले स्थानों से लोगो को बाहर निकला जा रहा है वह से लोगो को जगह खली करने को कहा जा रहा है। इससे पहले ये दोनों ही राज्य कोरोना महामारी से पहले ही जूझ रहे है। अब वहां की स्वास्थ्य व्यवस्था पर और ज़्यादा जिम्मेदारी और प्रेशर आगया है ।

महाराष्ट्र गुजरात समेत केंद्र शासित प्रदेशो दमन दीव दादरा नगर हवेली सभी जगह लोगो की सुरक्षा के उचित व्यवस्था की गयी है प्रधानमंत्री मोदी जी ने मंगलवार को लोगो को ये आश्वासन दिया है की प्रभावित क्षेत्रों के लोगो को पूरी उचित सुविधा डी जाएगी । आगे ४८ घंटे महाराष्ट्र के बहुत सी जगहों पर भारी है वहां तेज़ तूफानी हवाओं के साथ भारी बारिश होगी लोगो से अपील की जा रही है की संयम बरते | समुद्री इलाको में मछुआरों को आगे ४८ घंटो के दौरान दक्षिण पूर्व और अरब सागर लक्षदीप क्षेत्र और केरल के तटीय इलाको में न जाने की चेतावनी डी जा रही है ।

ये भी पढ़े :-10 सबसे ज्यादा पढ़े लिखे एक्टर्स में से एक तो स्वर्ण पदक के साथ स्नातक की उपाधि प्राप्त की हे,जाने कौन हे वो..

Leave A Reply

Your email address will not be published.