बिहार के अस्पताल जहां मरीज को इंजेक्शन अपने हातो से लगवाना पड़ता है, और घर से बिस्तर भी लाना पड़ता है…

0 336

पटना: बिहार में बाढ़ का कहर जारी है । बिहार के लोगों के लिए स्वास्थ्य देखभाल आवश्यक हो गया हे । लेकिन यहां अस्पताल में तबाही की तस्वीर सबको बिचलित कर रही है । पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज का ये फोटो सबको हैरान कर दिया ।

पटना का सबसे बड़ा कोविद अस्पताल NMCH पीड़ितों के लिए अभिशाप बन गया है । यहां अंजलि कुमारिन नाम की एक महिला का पति अस्पताल का बिस्तर पाने के लिए संघर्ष कर रहा था ।परेसानी की बात ये हे की उनके बिस्तर के बगल में शव पड़ा हुआ मिला ।

अंजलि ने कहा कि शव कोविद वार्ड के अंदर पाया गया । मृतक का बेटा सुबह अस्पताल के बाहर बेहोशी की हालत में पड़ा था । इसलिए सबको को समस्याएं हो रही हैं । अस्पताल के अधिकारियों का व्यवहार भी उग्र है । लोग खुद इंजेक्शन लगवा रहे हैं । उसने मेडिकल स्टाफ से तकिये के लिए कहा । तकिए नहीं हैं, एक कर्मचारी ने कहा । यहां तक ​​कि उसे घर से बिस्तर लाने पर भी मजबूर होना पड़ा ।

अस्पताल में एक और पीड़ित ने शिकायत की कि खुद को इंजेक्शन लगाने में असमर्थ होने के बाद पीड़ितों में से एक की मृत्यु हो गई थी । आपको खुद ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए जाना होगा । अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा, “वेंटिलेटर खराब है।” कोई फर्क नहीं पड़ता कि कोई कितना समझाते हैं, वे नहीं समझते ।

बिहार में अब तक 217 मौतों के साथ 27,000 से अधिक कोरोना के मामले सामने आए हैं ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.