बलात्कारी बाबा राम रहीम को एक दिन के लिए छोड़ दिया गया था, यह इतना गुप्त था कि इसके बारे में केवल 4 लोगों को पता था

0 333

बलात्कार के दोषी डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम बाबा को 24 घंटे के गुप्त पैरोल पर जेल से रिहा कर दिया गया था । यह घटना इतना गुप्त था कि हरियाणा में केवल 4 लोग ही जानते थे। इसमें सीएम मनोहर लाल खट्टर भी शामिल हैं और 24 अक्टूबर को गुरमीत राम रहीम बाहर आया था।

रोहतक की सुनारिया जेल में रहने वाले राम रहीम को हरियाणा पुलिस की तीन कंपनियों के संरक्षण में गुप्त रूप से गुरुग्राम लाया गया और गुरमीत राम रहीम ने अपनी मां से यहां मेदांता अस्पताल में मुलाकात की।

90 साल की नसीब कौर को कई दिनों के लिए मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। गुरमीत राम रहीम ने बार-बार अपनी मां से मिलने के लिए अदालत में पैरोल के लिए अर्जी दी थी। लेकिन इससे पहले, हरियाणा सरकार ने इसकी अनुमति नहीं दी थी। अंत में, गुरुमीत राम रहीम का आवेदन 24 अक्टूबर के लिए स्वीकार कर लिया गया।

गुरमीत राम रहीम के विशाल समर्थकों को देखकर, उसे जेल से बाहर निकालना प्रशासन के लिए एक चुनौती थी। पुलिस गाड़ी में चार तरफ पर्दा लगाया गया था ताकि किसी को नहीं पता चले ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.