जानिए तन्हाजी के बाद कौनसी वीर योद्धा पर मूवी बना रहे हैं अजय देवगन। हिंट : गाज़ीपुर -दिल्ली सुपर फ़ास्ट ट्रैन।

0 197

हाल ही में रिलीज़ हुई अजय देवगन की मूवी ” तन्हाजी द अनसंग वारियर ” बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही हे। अबतक यह फिल्म करीब २७५ करोड़ कमाई कर चुकी हे। इसके साथ ही इसने कई रिकॉर्ड तोड़े हैं और अजय देवगन के करियर की सबसे हिट मूवी साबित हुई हे। जनवरी १० में रिलीज़ हुई यह फिल्म की कमाई उसके बाद रिलीज़ हुई छपाक , स्ट्रीट डांसर 3D , पंगा , मलांग ,जवानी जानेमन जैसे कई बड़े फिल्मों के कुल कमाई को जोड़ भी दिया जाये तो भी उससे ज्यादा हे।

लगता हे अजय देवगन इससे खासा उत्साहित हैं। उन्होंने एक मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में कहा की वह इस तरह की आगे भी मूवी बनाना चाहते हैं। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कह दिया की वह एक फ्रैंचाइज़ी बनाने के प्लान में हैं जिससे भारत के उन महानायकों के जीवनी को बड़े परदे पर प्रसारण किया जा सके जिन्हे अपने राज्य के अलावा दूसरे राज्य के लोग जानते नहीं हैं। “अनसंग वारियर सीरीज” कुछ इस तरह के नाम से बनने वाला इस फ्रैंचाइज़ी के मूवीज में अजय देवगन के साथ साथ कई और एक्टर्स भी जुड़ेंगे।

इस इंटरव्यू में अजय देवगन ने तन्हाजी के तरह ही एक और हिस्टोरिकल करैक्टर के ऊपर बनने वाली अपनी अगले फिल्म के बारे में भी चर्चा की। उन्होंने कहा की उनका अगला हिस्टोरिकल पीरियड ड्रामा मूवी श्रावस्ती के राजा सुहेलदेव के जीवनी के ऊपर आधारित होगी। आप अगर उ.प्र. के हैं और खास कर अवध प्रांत के तो राजा सुहेलदेव के नाम तो सुना ही होगा। हाल ही में भारत सरकार ने सुहेलदेव एक्सप्रेस के नाम से एक सुपरफ़ास्ट ट्रैन का उद्घाटन किया जो दिल्ली से गाजीपुर तक चलती हे।

यहाँ हम आपको बता दें की राजा सुहेलदेव ने महमूद गज़नी , जिसने सोमनाथ मंदिर को तोडा था , उसकी आर्मी को उ.प्र. के बहराइच में हराया था। महमूद गजनी भारत पे राज नहीं कर पाया था। महमूद गज़नी का भतीजा सलार मसूद भारत में इस्लामिक राज प्रतिष्ठा करने के इरादे से मुल्तान के रास्ते भारत में प्रवेश किया था। उसने पंजाब, दिल्ली , मेरठ , बाराबंकी इत्यादि छोटे छोटे राज्यों को कब्ज़ा कर बहराइच तक पहुँच गया था जहाँ उसकी भिड़ंत राजा सुहेलदेव के सेना से हुई और इसी युद्ध में वह राजा सुहेलदेव के हाथों मारा गया था।

इस युद्ध के बारे में एक बड़ी दिलचस्प कहानी यह कही जाती हे की राजा सुहेलदेव की हिन्दू सेना मसूद की सेना पर आक्रमण न करे इसके लिए मसूद ने आस पास के सारे गायों को इक्कठा कर युद्ध में सबसे आगे रखने का योजना बनाया था। जिसके जरिये वह सुहेलदेव के सेना को गायों को हटाने में व्यस्त रख सके क्यों की सुहेलदेव की सेना गायों को मारेगी नहीं और एक दूसरी टुकड़ी लेकर सीधा राजा सुहेल देव पर आक्रमण कर सके। लेकिन इसका इस योजना की राजा सुहेलदेव को अपने गुप्तचरों द्वारा भनक लग गयी और गायों को युद्ध के पहले रात ही छुड़ा लिया गया था।

ऐसे ही इस युद्ध के बहुत सारे किस्से हैं। कहा यह भी जाता हे की यह उस ज़माने का सबसे भयावह युद्ध में से एक था। हम आपको यहाँ पे न तो इस युद्ध के बारे में ज्यादा बताएँगे और न ही राजा सुहेलदेव के जीवनी के बारे मैं क्यों की हम चाहते हैं की आप और भारत के अन्य लोग भी अजय देवगन की इस मूवी देखने जरूर जाएँ और महान योद्धा राजा सुहेलदेव के बारे में और अधिक जान सकें और आप को अपने देश के महान योद्धाओं को जानने का मौका मिले।

अजय देवगन का देश के वीरों और उनके वीरगाथाओं को दुनिया के सामने रुपेले परदे पर लाना वाकई काफी सराहनीय हे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.