कौन हैं विकास दुबे गैंग के टॉप 5 अपराधी जानिए पुलिस ने कैसे किया इनका एनकाउंटर

1 916

कौन हैं विकास दुबे गैंग के टॉप 5 अपराधी जानिए पुलिस ने कैसे किया इनका एनकाउंटर

कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गाँव में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाला विकास दुबे एमपी के उज्जैन में पकड़ बाद मध्य प्रदेश से कानपुर ले जा रही थी जब गाड़ी सड़क के बीच में पलट गया तो बिकाश बहा से पुलिस के हतियार ले कर भागने की कोसिस कि फिर मुठभेड़ के दौरान दो पुलिस अधिकारी बी घायल होने साथ साथ एनकाउंटर में विकास दुबे की मौत हो गया । साथ ही उनकी पूरा गेंग को भी नाकाम करने में लगे हे यूपी पुलिस,हाल ही में अमर दुबे विकास के सबसे करीबी जिसे पुलिस ने 8 जुलाई की सुबह को यूपी एसटीएफ और हमीरपुर पुलिस के एक संयुक्त ऑपरेशन के दौरान एनकाउंटर में मार गिराया था। जिसमें 2 पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे।

इसी तरह प्रभात मिश्रा को पुलिस ने फरीदाबाद के ओयो होटल से पकड़ा था। जहाँ यूपी पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर लाते वक़्त कानपुर हाइवे पर भौंती के पास पुलिस की गाड़ी पंचर हो गई थी। उस वक्त उसने गाड़ी में बैठे एसटीएफ के पुलिस इंस्पेक्टर से पिस्तौल छीनी और भागने की कोशिश की। जिस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस ने उसे मार गिराया।

इसी तरह रणवीर इटावा में मार गिराया गया। उस पर 50,000 इनाम भी था। सरेंडर करने की जगह उसने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। जिसपर जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने उसे ढेर कर दिया।

वारदात के अगले दिन सुबह विकास दुबे का मामा प्रेमप्रकाश अपने साथियों के साथ जंगल के रास्ते से होते हुए भागने का प्रयास कर रहा था। इसी दौरान प्रेम प्रकाश ने पुलिस पर फायरिंग कर दी और उसे एनकाउंटर मारा गया। अतुल दुबे भी प्रेम प्रकाश के साथ ही था जिसे एनकाउंटर किया गया था। इसे पहले ही मुख्यमंत्री योगी जी ने कहा था की 8 पुलिसकर्मियों की सहदाद ब्यर्थ नहीं जाएगी और इसी घटना में जो भी लोक शामिल उसे सख्त करबाई किया जाएगा ।

ये भी पढ़े :-सुशांत आत्महत्या मामले में संजय लीला भंसाली से लगभग तीन घंटे तक पूछताछ के दौरान मिले ये जवाब

Leave A Reply

Your email address will not be published.