एक मां ने अपने बेटे को घर लाने केलिए 1,400 किमी की दूरी तय की बो भी एक स्कूटर पे, जाने पूरा घटना के बारे में

0 1,470

कोरोनवाइरस वायरस दुनिया भर में फैल रहा है,कोरोनवाइरस संक्रमण को रोकने के लिए देशव्यापी 21-दिवसीय लॉकडाउन की गयी थी, इसीसलिए भारत के विभिन्न हिस्सों में बंद के कारण लोगों को विभिन्न कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

ऐसे ही एक घटना तेलंगाना में दीखनेको मिला हे, एक मां ने अपने बेटे को आंध्र प्रदेश से घर लाने के लिए 1,400 किमी की दूरी तय की। बो भी एक स्कूटर की सहयोह से, तेलंगाना में निजामाबाद जिले की एक 50 वर्षीय महिला ने अपने बेटे को आंध्र प्रदेश के नेल्लोर से वापस लाने के लिए दुपहिया वाहन पर चढ़ा दिया। महिला शिक्षक है। उसका नाम रेजिया बेगम है। वह महाराष्ट्र-तेलंगाना सीमा पर बोधन शहर में एक स्कूली सिखयत्रि है।

तालाबंदी के बारे में सुनकर, निजामुद्दीन की मां स्थानीय एसीपी से एक पास ले आई और पिछले सोमवार को, उन्होंने तेलंगाना से स्कूटर की सवारी की। वह मंगलवार दोपहर आंध्र प्रदेश-तमिलनाडु सीमा पर नेल्लोर पहुंचे। वह बुधवार की शाम अपने 18 वर्षीय बेटे मोहम्मद निजामुद्दीन के साथ अपने घर पहुंचे।

तीन दिन यात्रा के दौरान, रेजिया बेगम ने एक स्कूटर पर 1,400 किमी की यात्रा की, जबकि रेजिया का बेटा हैदराबाद में मेडिकल की परीक्षा की तैयारी कर रहा था। जब वह अपने दोस्त के पिता की बीमार के मदद के लिए नेल्लोर गया, तो उसदौरान लॉकडाउन लागू किया गया था ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.