भारत-चीन सीमा तनाव और विवाद, अब चीन हुआ चिंतित ! वजहा मोदी सरकार । चीन के कदम केसे पीछे हटे देखिये…

3 721

भारत-चीन सीमा तनाव और विवाद,अब चीन हुआ चिंतित ! वजहा मोदी सरकार । चीन के कदम केसे पीछे हटे देखिये-

चीन देश आज अन्य कई देशो के लिए समस्या बन चूका है चीन ही वो देश है जिसकी वजहा से दुनिया के लगभग सभी देश आज कोरोना महामारी से झूझ रहे है उसपे से भी चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आता है भारत और चीन के बीच लगभग पिछले ३०-४० दिनों से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एल ए सी ) पर तनाव बना हुआ है ये तनाव भारत के हिस्से लद्दाख के पूर्वी क्षेत्र में उपज रहा है दोनों देशो की सेनाये आमने सामने आगयी है ।

पर अब ये सुनने में आरहा की चीन अपनी चली हुई चालो में कामयाब नहीं हो पाया तो अब चीन की सेना भारतीय सीमा से दो किलोमीटर पीछे हट गयी है । पर चीन की ये सब हरकतों को देख के सब के मन में कई सवाल पैदा हो रहे है की आख़िरकार चीन अचनाक ये सब हरकते क्यों कर रहा है वो अपनी सीमाओं पर इतना कठोर रुख क्यों अपना रहा है ।असल में सारी दुनिया ये बात जानती है चीन की विस्तारवादी निति को और वो किसी से छुपी नहीं है चाहे वो चीन सागर का दक्षिण क्षेत्र हो या ताइवान हांगकांग या वियतनाम ।

Also read this :-Explained: Six years ago, how a standoff in Ladakh ended after discussion

और तो और कोरोना का जो संकट पूरी दुनिया पे आया है उसका जिम्मेदार भी चीन ही है इसकी वजहा से आज पूरी दुनिया में चीन की बदनामी हो रही है बहुत सारी विदेशी कम्पनिया जिन्होंने चीन में अपना निवेश,काम और व्यापार अबतक किया हुआ है वो अपना सब निवेश और काम समेट रही है जिसकी वजहा से चीन गुस्से से बौखलाया हुआ है ।क्यों की अब वहाँ कम्पनिया बंद होने लगी है और रोज़गार घटने लगे है और बेरोज़गारी बढ़ने लगी है ऐसे में चीन अपना खुराफाती दिमाग इस्तमाल करके वहाँ के लोगो का ध्यान गलत दिशा दिखने में लगा हुआ है इसलिए वो दूसरे देशो की सीमाओं पर अपनी गन्दी हरकतों को अंजाम देने में लगा हुआ है मई महीने के शुरुआत से ही चीन का व्यवहार लद्दाख की सीमा पर अलग दिखने लगा था वहाँ पर चीनी सेनाओ की गतिविधिया बढ़ गयी थी ये कोई पहली बार नहीं है जब दोनों देशो के बीच इस तरह का तनाव देखने को मिला है २०१७ में डोकलाम सीमा पर भी दोनों देशो के बीच लगभग दो माह तक अनबनी और तनाव चला था ।

सन १९६२ में भारत और चीन के मध्य जो युद्ध हुआ था ये वही क्षेत्र है जहाँ अभी मई के महीने में तनाव हुआ है इसकी यह वजहा है की चीन आये दिन भारत की सीमा से जो लगे हुए इलाके है वहाँ अब अपना कड़ा रुख अपना रहा है चाहे वो पूर्वी क्षेत्र हो या उत्तरी हो या हिमालय से सटे हुए सीमावर्ती इलाके हो । इस तनाव का और चीन का बौखलाने की वजहा ये भी है की भारत द्वारा वह की सीमाओं पर भूमिकारूपी व्यवस्था की गयी है जैसे रोड निर्माण आदि ।

अभी जहाँ गलवान घाटी में तनाव पैदा हुआ है वो (एलएसी) के बहुत नजदीक है और इसके बिलकुल समीप में ही भारत ने सबसे दुर्लभ इलाके में रोड का निर्माण कर लिया है । चीन पहले अपनी कुचालो को अपना कर धीरे धीरे चुपचाप गलत तरीके अपनाकर विवादित क्षेत्र पर अपना कब्ज़ा कर लेता था परंतु अब चीन से लगी भारतीय सीमाओं पर वहाँ के इलाको को मजबूत किया जा रहा है वहाँ पर सड़को का निर्माण किया जा रहा है जिसे चीन के सामने धोखे से कब्ज़ा करने वाली नियत पर विकल्प कम होते जा रहे है क्यों की पिछले पांच छः सालो में सरकार द्वारा सीमाओं पर ज़्यादा ध्यान दिया गया है उनको बहतर बनाने के पुरे प्रयास किये गए है उससे चीन की मुश्किलें बढ़ना और तनाव में आना तो लाज़मी बात है ।

धारा ३७० हटाई गयी तब भारत द्वारा तब जम्मू कश्मीर और लद्दाख को दो केंद्रशासित प्रदेशो में विभाजित किया गया था उसमे लद्दाख का जो नक्शा जारी किया था उसमे अक्साई चीन भी आरहा है जो चीन को कभी हज़म नहीं हो रहा है अभी जो कोरोना की वजह से दुनिया भर में आर्थिक मंदी आयी हुई है चीन उसमे भी अपनी चाल चल रहा है अपना खुद के वर्चस्व को कायम करने के लिए विदेशी बड़ी कम्पनियो में निवेश कर रहा है।

ये भी पढ़े :-निर्दयी पति ने सुहाग रात के बाद ही दुल्हन बनायीं प्रेमिका को टुकड़ों में बांटा फिर ऐसे हुआ वो बेनकाब

Leave A Reply

Your email address will not be published.