कोविड-19 जानलेवा संक्रमण से बचाव के लिए आपनाया ये तरिका,राष्ट्रपति ट्रम्प ने कही ये बात

0 344

वाशिंगटन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने जंगल के बुखार के उपचार में उपयोग की जाने वाली दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन लेने के विश्लेषण के लिए अपनी प्रतिक्रिया में इसे कोरोना संक्रमण कोविद -19 ‘गार्ड की एक विधि’ माना। ट्रम्प ने खुलासा किया था कि वह इस खतरनाक संक्रमण से दूरी बनाए रखने के लिए यह दवा ले रहे हे।

एक दिन के बाद, उन्होंने व्हाइट हाउस में कहा, “मुझे लगता है कि यह संक्रमण से बचाव केलिए मैं इसे कुछ समय तक ये दबा लेता रखूंगा।” यह बहुत आश्रय प्रतीत होता है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि इस दवा की भयानक तस्वीर इस तथ्य के प्रकाश में बनाई गई थी कि वह इसे आगे बढ़ा रहे थे।

उन्होंने कहा, मैं स्पष्ट रूप से एक असाधारण भयानक प्रचारक हूं। इस अवसर पर कि कोई अन्य व्यक्ति इसे आगे बढ़ा रहा था, उन्होंने कहा कि यह आम तौर पर उत्कृष्ट दवा है। ट्रम्प ने कहा, मुझे लगता है कि यह एक अत्यंत सम्मोहक दवा है और इससे आपको कोई नुकसान नहीं होता है ।

उन्होंने कहा कि दुनिया भर में हर जगह के विशेषज्ञों ने महामारी की बीमारी के उपचार में उपयोग की जाने वाली इस दवा के लिए अच्छी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि इटली, फ्रांस और स्पेन जैसे देशों में इसके बारे में भारी जांच की गई है और अमेरिका में विशेषज्ञ इसके लिए आशावान हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि यह दवा विवेकपूर्ण है। उन्होंने कहा, एक ऑफ-बेस परीक्षा की गई थी, जहां विशेषज्ञों ने इस दवा को असाधारण रूप से मिटा दिया गया था, उन लोगों को मिटा दिया था जो उस बिंदु पर थे जो लगभग बाल्टी को लात मार रहे थे। वीपी माइक पेंस ने एक अलग बैठक में कहा कि वह हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन नहीं ले रहे हैं।

बहरहाल विपक्षी नेताओं ने ट्रम्प को ऐसी दवाओं के सेवन के लिए छानबीन की है,और कहा हे की जिनकी जिसकी प्रामाणिकता अभी सिद्ध भी नहीं हुई है। अनिवार्य रूप से, ट्रम्प प्रशासन ने करोड़ों हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन टैबलेट खरीदे थे। भारत ने करोड़ों शॉट्स अमेरिका भेजे थे। भारत इस दवा के महत्वपूर्ण निर्माताओं में से एक है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.