ह्यूस्टन पुलिस चीफ: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपना मुँह बंद रखें,जाने ऐसे कहने की वजहा क्या हे

0 398

ह्यूस्टन पुलिस चीफ: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपना मुँह बंद रखें,जाने ऐसे कहने की वजहा क्या हे-

25 मई को काले नागरिक जॉर्ज फ्लोएड की गर्दन पर श्वेत घुटना गड़ाकर उसका कस्टोडियल मर्डर करने वाला अमेरिका अब घुटनों पर है। ‘अमेरिका फर्स्ट’, ‘अमेरिका फॉर अमेरिकन’ और ‘अमेरिका को फिर से महान बनाना है’ जैसे नस्लीय राष्ट्रवादी नारों से अमेरिका में नस्लवाद की आग भड़काने वाले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को शुक्रवार को उस समय व्हाइट हाउस के बंकर में छुपने के लिए विवश होना पड़ा जब प्रदर्शनकारियों ने व्हाइट हाउस का घेराव कर लिया।

Also read this :-Houston police chief gets praise after advising Donald Trump ‘to keep his mouth shut’

नस्लवादी अमेरिकी राष्ट्रपति की ताक़त क्या थी। जाहिर तौर पर नस्लवाद की घृणा से भरे हुए श्वेत समुदाय का समर्थन और बर्बर नस्लीय पुलिस प्रशासन। लेकिन ‘एंटी-पुलिस-ब्रूटलिटी’ विरोध प्रदर्शन में जिस तरह से और जिस बड़ी संख्या में श्वेत समुदाय सड़कों पर उतरकर जॉर्ज फ्लॉयड के लिए न्याय की मांग कर रहा है और पुलिस बल के कई ऑफिसर सॉलिडैरिटी में प्रदर्शनकारियों के साथ हाथ से हाथ मिलाकर बैनर लेकर चल रहे हैं उससे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की हिंसक शक्ति क्षीण हुई है। कुछ दृश्यों पर नज़र डालते हैं-

श्वेत समुदाय के अश्वेत समुदाय के साथ आने के बाद मियामी पुलिस ने घुटने पर बैठते हुए अपने पुलिस ऑफिसर डेरेक चाउविन द्वारा की गई जॉर्ज फ्लॉयड के कस्टोडियल मर्डर के लिए माफ़ी माँगी और प्रदर्शनकारियों ने उन्हें माफ़ करते हुए गले से लगा लिया। पुलिस द्वारा घुटने पर बैठते हुए अपनी क्रोधित जनता से माफी मांगने की तस्वीरें दुनिया भर में वायरल हो रही हैं।

31 मई, 2020 को ह्यूस्टन में जो घटना घटी, उसमें कई श्वेत निवासियों ने काले समुदाय के लोगों के सामने घुटने टेकते हुए अपने उस नस्लवादी दुर्व्यवहार के लिए माफी मांगा जो काले समुदाय को उनके रंग के लिए वर्षों वर्ष तक झेलना पड़ा।

ब्लैक लाइव्स मैटर आंदोलन के समर्थन में श्वेत समुदाय के लोगों ने घुटने पर बैठकर विरोध प्रदर्शित किया। व्यवस्था जनित व संरक्षित नस्लवाद को खत्म करने की लड़ाई में इससे शानदार कुछ नहीं हो सकता। खामोशी चीख में बदलकर सड़कों पर आ गई है।

इस एंटी पुलिस ब्रूटलिटी प्रोटेस्ट में प्रतीकात्मकता का बड़ा शानदार इस्तेमाल हो रहा है। व्हाइट कम्यूनिटी के लोग घुटने पर बैठकर इस आंदोलन को आगे बढ़ा रहे हैं, जाहिर है श्वेत पुलिस ऑफिसर डेरेक चाउविन ने काले जॉर्ज फ्लॉयड के गले में घुटने गड़ाकर ही मारा था।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कई ट्वीट और संबोधनों में अपने अमेरिकी पुलिस से प्रदर्शनकारियों पर डॉमिनेट होने को कह रहे हैं। उनके इस वक्तव्य पर सीएनएन टीवी चैनल पर प्रतिक्रिया देते हुए ह्यूस्टन पुलिस चीफ Art Acevedo कहते हैं- ” इस देश का पुलिस चीफ होने के नाते मैं राष्ट्रपति ट्रंप से कहता हूँ कि यदि आपके पास कहने को कुछ रचनात्मक नहीं है तो अपना मुंह बंद रखो। क्योंकि आप ऐसा कहकर इस देश के स्त्रियों और पुरुषों को खतरे में डाल रहे हैं। पुलिस ऑफिसर को खतरे में डाल रहे हैं। ये डॉमिनेट करने की बात नहीं है। ये कम्यूनिटी का उनका दिल और दिमाग जीतने का मसला है।

हमें लोगों को कन्फ्यूज नहीं करना चाहिए कि दया कमजोरी का प्रतीक है। बैड पुलिसिंग या क्राइम पुलिसिंग का हवाला देकर राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था कि प्रशासन को कमजोर नहीं पड़ना चाहिए और प्रदर्शनकारियों पर डॉमिनेट करते हुए उनसे सख्ती से पेश आना चाहिए”।

ये भी पढ़े :-निर्दयी पति ने सुहाग रात के बाद ही दुल्हन बनायीं प्रेमिका को टुकड़ों में बांटा फिर ऐसे हुआ वो बेनकाब

Leave A Reply

Your email address will not be published.