अब सूरत में भारी बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति, देखें वायरल तस्वीरें …

0 836

गुजरात के कई हिस्सों में बाढ़ के खतरे के चरम स्तर की घोषणा की गई थी। पिछले 48 घंटों से हो रही भारी बारिश के कारण खाड़ी तट पर सूरत के लिंबायत, बमरौली, सरथाना और परबत पाटिया जिलों में बाढ़ के खतरे के चरम स्तर की घोषणा की गई थी। कई जगहों पर तीन से चार फीट पानी जमा हो गया है।

प्रशासन सतर्क है। गृह मंत्री अमित शाह ने स्थिति के बारे में जानकारी लेने के लिए मुख्यमंत्री विजय रूपानी से फोन पर बात की और केंद्र की सभी मदद का आश्वासन दिया।

कई इलाकों से लोगों को बहार निकाला जा रहा है। उकाई और अंबली बांधों में जल स्तर बढ़ने के बाद आसपास के गांवों को भी स्थानांतरित किया जा रहा है। शहर की सड़कों पर भी पानी घुस गया है। तापी नदी सहित कम से कम तीन स्थानों पर बाढ़ के खतरे के चरम स्तर की घोषणा की गई।

कई इलाकों में पानी कमर के उचाई तक पहुंच गया है। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की पांच टीमें और दमकल विभाग की एक टीम बचाव कार्य में लगी हुई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.