जीवनसाथी चुनते समय चाणक्य निति के अनुसार ये ध्यान में रखने वाली बातें हैं, जो जानना बहुत जरुरी है

0 436

हमारे भारतीय समाज में ज़्यादातर शादियां सुसंगत ही होती है जो परिवार के बड़े मुखिया लोग मिलकर तय करते हैं परन्तु शादीशुदा जीवन की सफलता पति-पत्नी दोनों पर निर्भर करती है हालांकि, कई बार ऐसा होता है कि पति-पत्नी के रिश्तों के बीच सही समन्वय नहीं होने से उनका रिश्ता टूट जाता है। आचार्य चाणक्य ने अपने नीतिशास्त्र में सफल जीवन की नीतियों के साथ गृहस्थ जीवन से भी जुड़ी कई जरुरी बातें बताई हैं ।

शादीशुदा जीवन की सफलता पति-पत्नी के साथ उनके दोनों परिवारों पर भी निर्भर करती है. हालांकि, कई बार ऐसा होता है कि पति-पत्नी के बीच सही समन्वय नहीं होने से उनका रिश्ता टूट जाता है. आचार्य चाणक्य ने अपने नीतिशास्त्र में सफल जीवन की नीतियों के साथ गृहस्थ जीवन से भी जुड़ी कई अहम बातें बताई हैं. आचार्य चाणक्य का श्लोक है उसमे वो कुछ कहते हैं।

वरयेत् कुलजां प्राज्ञो विरूपामपि कन्यकाम्।
रूपशीलां न नीचस्य विवाह: सदृशे कुले।।

इस श्लोक में चाणक्य ने कहा है कि जीवनसाथी चुनते समय लोगों को अपने साथी में कई गुण परखने चाहिए. चाणक्य के अनुसार, चेहरे की खूबसूरती को गुणों को ही सिर्फ नहीं देखना चाहिए की परखने का पैमाना खूबसूरत चेरा हो । चाणक्य कहते हैं कि ऐसा जरूरी नहीं है कि जो बाहर से सूंदर दिखे वो सही में अंदर से अच्छे हों कि जो लोग व्यक्ति के मन और उनके विचारों को मेल करके शादी करते हैं, वे हमेशा खुश रहते हैं।

चाणक्य कहते हैं कि जिस व्यक्ति में धीरज होता है, वो सभी तरह की परिस्थिति को संभाल के जीवन में आगे बढ़ते है चाणक्य के अनुसार धैर्यवान व्यक्ति परिस्थितियों को ठीक करने का हौसला रखता है. शादी से पहले अपने जीवनसाथी में कितना धैर्य है या हर बात में उत्तेजित होता है ये भी देखना चाहिए जीवनसाथी संस्कारवान होना आवश्यक हैं ।

अपने लिए गुस्से का स्वभाव रखने वाले जीवनसाथी का चुनाव नहीं करना चाहिए. उससे आपस में तालमेल नहीं बनता है गुस्सा करने वाले लोग अपने आसपास मौजूद खुशियों को नजरअंदाज कर देते हैं. अगर आप किसी गुस्से वाले इंसान से शादी करते हैं तो खुशहाल जीवन की कल्पना करना एक स्वप्न ही है. चाणक्य के अनुसार कि सफल शादीशुदा जीवन के लिए जीवनसाथी का शांत स्वाभाव होना जरूरी है. अन्यथा जीवन नरक के समान लगता है और खुशिया जीवन में कभी नहीं टिकती है । इसलिए जीवन साथी चुनते समय उसमे विनम्रता देखना अति आवशयक है विनम्र व्यक्ति किसी भी सांचे में ढल जाता है और अपने रिश्तों को बखूबी समझता भी है।

ये भी पढ़े :-कोरोना वैक्सीन (Vaccine) को तैयारी लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी ये जानकारी

Leave A Reply

Your email address will not be published.