कोरोना संक्रमण से खराब होते हालात को देखते हुए इस राज्य सरकार ने लिया ये अहम फैसला

0 327

देश भर में कोरोना वायरस संक्रमण की संख्या बढ़ती जा रही है। प्रावधानों के बावजूद, कोरोना फैलाना जारी है। ऐसे परिस्तिति में, विभिन्न राज्यों ने कुछ सख्त कदम उठाए हैं, जबकि बिहार राज्य ने लॉकडाउन अवधि बढ़ा दी है। राज्य में कोरोना मामलों की संख्या 100,000 से अधिक हो गई है, लॉकडाउन की अवधि अगले साल 6 सितंबर तक बढ़ा दी गई है।

नीतीश सरकार ने पहले 16 अगस्त तक राज्य में लॉकडाउन की घोषणा की थी। प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण से खराब होते हालात को देखते हुए नीतीश सरकार ने बिहार में 16 अगस्त तक की लॉकडाउन अवधि समाप्त होने के बाद भी 6 सितंबर तक के लिए बढ़ा दिया गया है।

राज्य में अब तक 471 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें 31,000 से अधिक सक्रिय मामले हैं। हालांकि 72,000 से अधिक स्वस्थ हो चुके हे और घर लौट आए हैं, लेकिन राज्य के लिए खतरा कम नहीं हुआ है। इसलिए मुख्यमंत्री नीतीश ने ऐसा फैसला लिया है।

रिपोर्टों के अनुसार, पहले की तरह ही शैक्षणिक संस्थान, धार्मिक स्थल, शॉपिंग मॉल, पार्क, जिम, सिनेमा हॉल जैसी जगहें बंद रहेंगी। कंटेनमेंट और बफर जोन में लॉकडाउन को पहले की तरह सख्ती से लागू किया जाएगा। और सरकारी और प्राइवेट ऑफिसों में 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम करने की अनुमति दी गई है।

आपात व जरूरी सेवाओं वाले विभाग जैसे पुलिस, सिविल डिफेंस,जिला प्रशासन, होमगार्ड,आपदा प्रबंधन, ट्रेजरी,नगर पालिका व निगम, बिजली, जल आपूर्ति, स्वास्थ्य, खाद्य, कृषि, पशुपालन,जल संसाधन, समाज कल्याण, वन एवं पर्यावरण के ऑफिसों को इसमें छूट मिलेगी।

ये भी पढ़े:-भारत के पूर्व क्रिकेटर और UP सरकार के कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान कोविड-19 के कारण हुआ निधन

Leave A Reply

Your email address will not be published.