LAC में भारत और चीन के बीच सैन्य तनाव के बिच अमेरिका का बड़ा बयान कहा हर हरकत पर…

0 413

वॉशिंगटन: भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा पर कड़वाहट के बीच अमेरिका ने एक बड़ा बयान दिया है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने चीन की चालबाजी पर कडा रुख अपनाते हुए कहा है कि चीन दुनिया की शराफत और आजादी का नाजायज लाभ उठा रहा है। और ये भी कहा हे की चीन अपनी फायदे केलिए हर मोर्चे पर लड़ाई तेज कर रहा हे।

माइक पोम्पेओ का बयान ऐसे समय में आया है जब LAC को लेकर भारत और चीन के बीच तनाव बढ़ गया है। इतना ही नहीं, वह दक्षिण चीन सागर में अमेरिका पर नजर रख रहा है। चीन ने भी हांगकांग में अपनी स्वतंत्रता समाप्त करके पश्चिमी देशों के साथ अपनी कड़वाहट बढ़ते नजर आरहा हे । इतना ही नहीं, बल्कि नए कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के लिए हांगकांग में सैकड़ों लोगों को चीन द्वारा गिरफ्तार किया गया है।

India China Border tensions

भारतीय सेना ने सोमवार को एक बयान में कहा कि चीनी सैनिक एलएसी पर एकतरफा स्थिति में बदलाव की कोशिश कर रहे थे। ऐसे समय में जब भारत और चीन के बीच सैन्य और कूटनीतिक तनाव बढ़ गया है। जैसे की आप जानते हो बीते रात यानी 29 अगस्त की रात को भारत और चीन सैनिक आपस में भिड़ गए। रिपोर्टों के अनुसार, चीनी सैनिकों ने पूर्व में बनी सहमति का उल्‍लंघन किया। चीनी सेना पेंग्यांग झील के पास घुसपैठ की कोशिश कर रही थी। चीनी सेना ने बॉर्डर पर यथास्थिति बदलने की एक और कोशिश की,पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर चीनी सेना हथियारों के साथ आगे बढ़ी तो भारतीय सेना ने न सिर्फ रोका, बल्कि पीछे खदेड़ दिया।

जवाब में, एक चीनी सैन्य प्रवक्ता ने कहा कि चीनी सैनिक अपने क्षेत्र की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने खुद एलएसी से भारतीय सैनिकों की वापसी की मांग की। PLA के एक बयान ग्लोबल टाइम्स वेस्टर्न कमांड ने एक बयान में कहा कि भारतीय सैनिकों ने LAC अतिक्रमण किया था। इस मुद्दे पर दोनों देशों के बीच कई दौर की बातचीत हुई है। लेकिन भारतीय सेना ने आरोपों से इनकार किया है। ।

ये भी पढ़े :-सुशांत की मामले में जांज कर रही CBI को नहीं मिले हत्या का सबूत, अब इसी एंगल को लेकर जांच शुरू

Leave A Reply

Your email address will not be published.